Home / TECHNOLOGY / ऑपरेटिंग सिस्टम की सर्विसेस Operating System Services

ऑपरेटिंग सिस्टम की सर्विसेस Operating System Services

ऑपरेटिंग सिस्टम की सर्विसेस

ऑपरेटिंग सिस्टम की सर्विसेस कौन-कौन सी है Operating System Services

ऑपरेटिंग सिस्टम प्रोग्रामों का   निष्पादन के लिए एक वातावरण उपलब्ध कराता है. तथा ऑपरेटिंग सिस्टम कुछ निश्चित सर्विसेस को प्रोग्रामों. और उन प्रोग्रामों के यूज़रों को प्रोवाइड करता है.  यह ऑपरेटिंग सिस्टम सर्विसेस प्रोग्राम के लिए सरलता और प्रोग्रामिंग को अच्छा बनाती है.

 

1. प्रोग्राम   execution –  सिस्टम मेमोरी में एक प्रोग्राम को लोड करने के योग्य तथा उसे  run करने योग्य होना चाहिए  प्रोग्राम उसके अंतिम निष्पादन के लिए योग्य होना चाहिए.

 

2.  इनपुट आउटपुट ऑपरेशन –   एक रनिंग प्रोग्राम को इनपुट आउटपुट की आवश्यकता होती है. या इनपुट आउटपुट एक फाइल या एक इनपुट आउटपुट डिवाइस को अंतर्विष्ट करता है. किसी विशेष डिवाइस के लिए विशिष्ट कार्य की मांग की जा सकती है.  सक्षमता और बचाव के लिए यूजर  सीधे ही कंट्रोल इनपुट आउटपुट डिवाइसेस उपयोग नहीं करता है. इसलिए ऑपरेटिंग सिस्टम को कुछ इनपुट आउटपुट व्यवस्थित करना चाहिए.

 

3.  फाइल सिस्टम मैनीपुलेशन  –  फाइल सिस्टम  मैनीपुलेशन  प्रोग्राम की आवश्यकता के अनुसार फाइल को रीड करता है.  राइट करता है. आवश्यकतानुसार नाम के आधार पर फाइलों को निर्माण तथा हटाता है.

 

4.  कम्युनिकेशन – इस सर्विस में एक प्रोसेस आवश्यकता पड़ने पर सूचना को दूसरी प्रोसेस में आदान प्रदान करता है. कम्युनिकेशन को शेयर मेमोरी के द्वारा यह मैसेज  पासिंग  की तकनीक के द्वारा इंप्लीमेंट किया जा सकता है. इस प्रकार की तकनीक में सूचनाओं के पैकेट्स ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा प्रोसेस के बीच में भेजे जाते हैं.

 

5. एरर डिटेक्शन –  ऑपरेटिंग सिस्टम संभावित एरर  के लिए संचित रहता है. एरर  cpu तथा मेमोरी हार्डवेयर में घटित हो सकती है. और इनपुट आउटपुट डिवाइस से यूजर प्रोग्राम में भी घटित हो सकती है. हर प्रकार की प्रॉब्लम के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम को सही एक्शन लेना चाहिए.

 

6.  रिसोर्स एलोकेशन –  जब  मल्टीपल यूजर या मल्टीपल जॉब्स एक ही समय पर रन  होते हैं. तो प्रत्येक के लिए रिसोर्स एलोकेशन  होना चाहिए.  ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा विभिन्न प्रकार के रिसोर्सेज मैनेज किए जाते हैं. जैसे कि सीपीयू  साइकिल मेन मेमोरी और  फाइल स्टोरेज विशिष्ट लोकेशन कोड रखते हैं. जबकि दूसरे जैसे कि इनपुट आउटपुट डिवाइस इस सामान्य  रिक्वेस्ट तथा रिलीज कोट रखते हैं.

 

7.  एकाउंटिंग – एकाउंटिंग सर्विसेस के द्वारा कौन से  यूजर कितना उपयोग  तथा कंप्यूटर रिसोर्स का क्या प्रकार हैं.   का रिकॉर्ड रखते हैं .
8. प्रोटेक्शन – सूचनाओं के मालिक अपनी सूचनाओं को 1 मल्टी यूजर कंप्यूटर सिस्टम में स्टोर करते हैं. और वह उन पर कंट्रोल चाहते हैं. जो कि प्रोटेक्शन सर्विस के द्वारा संभव है. प्रोटेक्शन शामिल करता है. कि सभी ऑपरेटिंग सिस्टम रिसोर्सेज के लिए एक्सेस कंट्रोल  करते हैं. सिक्योरिटी भी एक महत्वपूर्ण कांसेप्ट है. प्रत्येक   यूजर  के साथ सिक्योरिटी प्रारंभ की जाती है. तथा उसका एक पासवर्ड होता है. जोकि रिसोर्सेज को एक्सेस करने के लिए लागू किया जाता है.

Check Also

nintendo switch about info

nintendo switch in hindi जानिए क्या है खासियत

nintendo switch के बारे मे जानिए nintendo switch बहुत लोकप्रिय कंसोल होता जा रहा है. …