ह्रदय hriday rog

ह्रदय व रक्त संचार के रोग से कैसे मुक्ति पाए heart and blood pressure

ह्रदय hriday rog
dil or rakt sanchar

ह्रदय व रक्त संचार के रोग से कैसे मुक्ति पाए.

ह्रदय के रोग से भारत के कई लोग इससे परेशान है, लेकिन बहुत ही कम लोग इस विकार को दूर करने के लिए आयुर्वेदिक तथ्य का उपयोग करते है. जबकि आयुर्वेद से बहुत से फायदे होता है. इस उपयोग से बहुत से लोगो को फायदा होता है. ह्रदय रोग दूर करने के लिए .
१ :-सेबफल apple मुरब्बा कम से कम ५० ग्राम ले , उस मुरब्बा को चांदी के वर्क से लगा कर . उसका सेवन सुबह के समय करे .इससे दिल की कमजोरी दूर होती है और साथ ही साथ दिल का बैठने वाली बीमारी का भी इलाज हो जाता है. इसे १५ दिन ही अमल में लाना होता है.
२:-ह्रदय की दुर्बलता को दूर करने के लिए यह नुस्खा भी बहुत काम में आता है ,इसके लिए आपको आपके खाने को धयान देना होगा , जैसे मान लीजिये आप खाने में ६ रोटिय खाते है. तो पहली ३ रोटी के बाद, आवले के रस को आधे गिलास पानी में डाल कर पिए उसके बाद शेष बची ३ रोटी को खाए .यह नुस्खा २१ दिन में बहुत कारगर साबित होगा.
३:- ह्रदय की जलन को दूर करने के लिए ,कच्चे आलू के रस को भी पिने से दिल की जलन दूर हो जाती है . इसलिए कई लोग आपात कालीन के लिए इस रस को बनाते है , या पकी इमली के रस को मिह्री के साथ पिने से भी यह विकार जल्दी से दूर हो जाता है.+
४:- दिल की धड़कन अगर अधिक बाद जाती है तो . इसे ठीक करने के लिए आप एक कच्चे प्याज को निंत्य एवं में लाए इसे धड़कन का विकार दूर हो जाता है और दिल को शक्ति भी मिलती है .

 

 

५:- दिल के रोग को दूर करने के लिए आवले को बहुत ही अच्छा मन जाता है. अगर हम पिसे हुए आवले को गाय के दुध के साथ रोजाना पिए तो ह्रदय के सारे रोग दूर होने लगते है. या पीसी हुई मिश्री को और सूखे आवले के चूरन को एक सामान मात्रा में ले और उसे रोजाना एक चम्मच खाए तो भी यह बहुत आसान तरीका है.

६:- बहुत ही कम लोग जानते है की केला भी दिल के रोग के लिए कारगर है. अगर केले को अगर १५ ग्राम शहद के साथ खाए तो यह भी दिल की बीमारी को दूर करने में मदद करता है .

७ अगर आप हमेशा काम के सिलसिले से बाहर रहते है .जिससे आप उपर बताये नुस्खे नही कर पते तो आप हमेशा आपने साथ लीची रखे और इसका सेवन करते रहे .लीची दिल को स्वस्थ बनाए रखता है . और आपको दिल की परेशानी से बचाता भी है.

 

 

नोट:- यदि आप अकेले है और दिल का दोहरा अचानक से आ जाये तो ,आप ज्यादा घबराए नही .क्युकी आपकी घबराहट दिल को कमजोर करता है . जेसे ही दोहरा आये वैसे ही आप जोर जोर से खासी करे और लम्बी लम्बी तेज़ी से साँस ले. और धीरे धीरे चल कर मदद लेने के लिए जाये . यह आपको सीरियस कंडीशन से बहार लाने में मदद करेगा.