Akshay kumar biography

Akshay kumar biography – अक्षय कुमार का जीवन परिचय in hindi

Akshay kumar biography – अक्षय कुमार का जीवन परिचय  in hindi

Akshay kumar biography
Akshay kumar अपनी फिल्मो में बेहतरीन अदाकारी की वजह से जाने जाते है. इनकी बॉलीवुड में एन्र्टी 1991 में सौगंध मूवी से हुई. जिनके निर्देशक राज एन. सिप्पी जी थे. इनका वास्तविक नाम राजीव हरी ओम भाटिया हैं. इनका जन्म 9 सितम्बर 1967 में अमृतसर, पंजाब में हुआ. ये पंजाबी परिवार से हैं. इनके पिता हरी ओम भाटिया जो पेशे से सरकारी कर्मचारी थे. इन्होने अपनी पड़ी शुरुआत मुंबई के कोलीवाडा शहर से डॉन बोस्को स्कूल से 12वीं उतीर्ण की और कॉलेज की पढाई महाविद्यालयीन शिक्षा गुरु नानक कॉलेज से की हैं. आगे जा के इन्होने मार्शल आर्ट में अपनी रूचि दिखाई और बैंकाक गए और वहां एक शेफ के रूप में भी काम किया. इन्हें खाना बनाना अच्छा लगता हैं.

मार्शल आर्ट की स्कूल भारत में खोलने को सोच को लेकर वे वापस मुंबई आये और बच्चों को मार्शल आर्ट सिखाना शुरू किया उन सभी में एक विद्यार्थी जो फोटोग्राफ़र था Akshay kumar के अन्दर एक मॉडल के रूप में देखना शुरू किया और उनके कई बार तस्वीर भी लिया करता था. उस समय Akshay kumar को कैमरे के सामने 2 घंटे तक पोज़ देने के लिए 5000 मिलता था इसलिए उन्होंने मॉडल बनना पसंद किया. 1992 में पहली फिल्म दीदार जिसमे उन्होंने अभिनेता का रोल मिला जिसमे अभिनेत्री करिश्मा कपूर और इस फिल्म के निर्देशक प्रमोद चक्रवर्ती थे.1992 में दूसरी फिल्म खिलाडी में भी अभिनेता रह चुके हैं. 1994 में पहली एक्शन फिल्म मै खिलाडी तू अनारी और मोहरा फिल्म आई जो उस वर्ष की सर्वश्रेष्ट फिल्म रही. उसके बाद कई फिल्म ‘यह दिल्लगी’ आई जिसके निर्देशक यश चोपरा रहे. जिसकी सफलता की वजह से बॉलीवुड में Akshay kumar को ऊँचाईयों की बुलन्दियों तक पंहुचा दिया और इस फिल्म के लिए फिल्मफेयर में बेस्ट एक्टर के सूची में शामिल किया गया था.

Akshay kumar biography

इसी साल में ‘यह दिल्लगी’ के बाद दो सफल फिल्म और किये जिनका नाम ‘सुहाग’ और ‘एलान’ किये यह फिल्म भी जनता ने इतनी पसंद की यह साल उन्हें सबसे सफल एक्टर का ख़िताब दिया गया.1995 में एक और हिट फिल्म ‘सबसे बड़ा खिलाडी’ में अभिनव किया जो खिलाडी की सूची में सर्वश्रेष्ट रही और सफलता हासिल की.1996 में खिलाडी फिल्म की सूची में एक और फिल्म इस वर्ष की हिट फिल्म रही जिसका नाम ‘खिलाडियों का खिलाडी’ है.1997 में Akshay kumar ने सहायक कलाकार के रूप में अभिनय किया जिसका नाम ‘दिल तो पागल है’ की वजह से इस फिल्म को सर्वश्रेष्ट सह-कलाकार की सूची में चयनित किया गया और बाद में खिलाडी सीरीज की एक और फिल्म आई जिसका नाम ‘मिस्टर & मिस्सेस खिलाडी’ में इन्होने हास्य अभिनेता के रूप में नज़र आये और जनता इस फिल्म को उतना पसंद नहीं की जो उस साल की असफल फिल्म रही.1999 में इनकी दो फिल्म आई ‘संघर्ष’ और ‘जानवर’ उस समय इस फिल्म से ज्यादा मुनाफा नहीं हुआ लेकिन जनता ने इस फिल्म को पसंद किया.2000 से इन्होने अच्छी वापसी की जिससे वह अपने कैरियर अपने फिल्म जगत में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने में सफल रहे.
आज की दौर में वे बॉलीवुड के एक सफल अभिनेता के रूप में जाने जाते है.
Akshay kumar की शादी ट्विंकल खन्ना से 14 जनवरी 2001 में हुई और आज उन्हें एक लड़का जिसका नाम आरव और एक लड़की नितरा है.