neil-harbisson

neil harbisson कलर को सुनने वाले |technology facts

neil harbisson कलर को सुनने वाले |technology facts

neil-harbisson
neil-harbisson

neil harbisson की कहानी  :- सुनने में काफी अजीब लगेगा कि हम कलर को सुन भी सकते हैं लेकिन ऐसे ही कुछ हुआ है आईलैंड के रहने वाले हैं neil harbisson के साथ, वह कलर को सुन सकते हैं .यह कारनामा 2003 में एक एक्सपेरिमेंट से हुआ .neil harbisson का जन्म आयरलैंड में 1984 में हुआ, वह बचपन से कलर ब्लाइंड थे याने की उन्हें दुनिया सिर्फ ब्लैक एंड व्हाइट की तरह ही दिखती थी .लेकिन 2003 में वह कंप्यूटर साइंटिस्ट Adam Montando, Peter Kese और Matias Lizana among से मिले. जिन्होंने एक ऐसी मशीन बनाई जो कि कलर को डिटेक्ट करके, एक यूनिक साउंड निकाले. जिससे कि neil harbisson को कलर के बारे में पता चले. हर अलग-अलग कलर का एक अलग अलग साउंड क्रिएट होता है, जिसके कारण neil harbisson कलर को सुन सकते हैं यह एसा डिवाइस है जो उनके शरीर में ही इंप्लांट किया गया है. यह उनके शरीर के अंदर एक जुड़ा हुआ इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है ,जो उनके दिमाग से जुड़ा हुआ है यह उनके शरीर का एक अभिन्न अंग बन चुका है और उन्हें भी डिवाइस के साथ रहने की आदत हो चुकी है इस डिवाइस में कैमरा होता है, जो अपने सामने आए हुए कलर को डिटेक्ट करता है और वह सिग्नल के जरिए उनके दिमाग में लगी हुई चिप तक पहुंचाता है जिसमें वह चिप एक साउंड बनती है , जिससे neil harbisson को color tune सुनाई देता है.
यह डिवाइस बायो एथिकल कमेटी की वजह से किसी भी डॉक्टर ने लगाने से मना कर दिया था ,लेकिन कुछ कोशिशों के बावजूद एक डॉक्टर ने यह डिवाइस सर्जरी द्वारा उनके दिमाग में लगा दिया. डॉक्टर का नाम रिवील नहीं किया गया लेकिन इस कारनामा के कारण आज नीले रिजल्ट दुनिया के पहले साईं बाग बन चुके हैं .
कुछ लोगों का कहना है कि neil harbisson साउंड को भी देख सकते हैं लेकिन ऐसा नहीं है जो कलर की ट्यून नील के दिमाग तक पहुंचती है अगर उसी से मिलता जुलता अगर कोई साउंड सुन ले तो उनके अंदर उस कलर की छवि बनने लग जाती है वह सिर्फ आवाज की समानता के कारण देख पाते हैं जिसमें कोई सच्चाई नहीं है कि आवाज को ही देख रहे हैं.
उनकी फोटो , पासपोर्ट में भी इसी डिवाइस के साथ है क्योंकि यह इनके शरीर से जुड़ा होने के कारण हर जगह इसी डिवाइस के साथ इनकी फोटो है.

neil-passport
neil-passport

यह खोज हमें आधुनिक दुनिया की ओर ले कर जाती है तथा साथ ही साथ हमें विश्वास दिलाती है कि विज्ञान के कारण मनुष्य अपनी कमजोरी पर विजय पा सकते है .